सेक्सी मामी ने मेरी चड्डी में हाथ डाला || Sexy Mami Ki Chudai Kahani

सेक्सी मामी ने मेरी चड्डी में हाथ डाला || Sexy Mami Ki Chudai Kahani
Desi Sex Kahani

मेरा नाम लव है मै 20 साल का हूं और अपने गांव से दूर शहर मे पढ़ता हूं।

ये कहानी जनता कर्फ्यू से एक दिन पहले शुरू हुई।
दरअसल जब मुझे पता चला कि कल जनता कर्फ्यू है तो मै अपने घर आने के लिए बस स्टैंड पहुंच गया।

वहां खड़ा हो मै बस का इंतजार कर रहा था तभी एक 16 साल का लड़का बाईक लेके मेरे पास आ गया।
वो मेरे मामा का साला था, मेरे मामा की शादी 1साल  पहले इसी शहर मे हुईं थी।

पहले तो मैने उसे पहचानने से इनकार कर दिया लेकिन फिर वो मामा को फोन लगा दिया और मुझे अपने घर ले जाने को कहने लगा, मैने मना कर दिया तो मामा ने बोला चला जा एक दिन के लिए घर क्यों जा रहा है। मामा का साला बोला एक तो इसी शहर मे रह कभी मिलते नही है और अब पहचानने से इनकार कर रहे हैं।

वो मुझे बाइक पर बिठा खूब तेज से निकल पड़ा वो काफ़ी तेज बाइक चला रहा था।
घर पहुंचने से एक दो गली पीछे आखिर उसने मुझे गिरा ही दिया मेरे दाएं हाथ मे बड़ी जोड़ से लगी उसे ज्यादा कुछ नही हुआ।
अब वो मुझे उठा डॉक्टर के पास ले गया डॉक्टर ने मलहम पट्टी की और स्कैन के लिए बोला स्कैन मे टूटा हुआ नही था लेकिन कुछ गर्म पट्टी 30 दिन बांधने को बोला।

अब मै मामा के ससुराल पहुंचा तो,
मामा का साला और सास कही जाने की तैयारी करने लगे उनके किसी रिश्तेदार की शादी थी तो वो दोनो चले गए।

उनके घर में 3 बहने और 1 भाई और मम्मी पापा थे।
पापा उनके कहीं दूर सीआईएसएफ मे जॉब पर थे जो छुट्टी पर आए हुऐ थे।

बड़ी बहन पायल की 4 साल पहले शादी हुईं थी उनकी उम्र 27साल थी।
बीच वाली काजल, उम्र 25 जो मेरी मामी थीं
छोटी बाली अर्चना उम्र 22 साल।

कुछ देर बाद उनके पापा आ गए और जब उन्हें पता चला कि उनके बेटे ने मुझे बाइक से गिरा दिया है तो वो उसे खोजने लगे तब मामी ने बोला कि वो नानी घर चला गया।
अब रात को हम खाना खाने लगे मै लेफ्ट हैंड से खाने लगा तो मामी बोली ला मै खिला देता हूं।

उनके पापा: देखो बेटा अब तुम आराम से यही रहो कुछ दिन कही जाने की जरूरत नहीं है तुम यहां रहोगे तो मै भी शादी अटेंड कर लूंगा।

Sexy Mami Ki Chudai Kahani


बड़ी मामी: शादी मे तो अभी टाईम है।
पापा: अरे बेटी की शादी मे बहुत काम होता है मै कल ही चला जाता हूं नही तो तुम्हारा मामा नाराज हो जायेगा, अर्चू तुम भी चल रही है ना।
छोटी मामी: हां पापा।

Read More :- पड़ोसन लड़की पूजा को बहाने से घर बुला कर रात मे चोदा | Padosan Ki Chudai Ki Kahani

पापा: ठीक है तुम दोनो इसका ख्याल रखना और जाने मत देना।
मै: लेकिन कल तो जनता कर्फ्यू है।
पापा: अरे मुझे कौन रोकेगा मै सुबह ही निकल जाऊंगा।
मामी: इतनी दूर बाइक से जायेंगे बस तो बन्द होगा।
पापा: और नही तो क्या 4 बजे निकल जाऊंगा तो 10 बजे तक पहुंच जाऊंगा।

अब हम सोने जाते हैं मामी मेरे साथ सो जाती हैं।
बड़ी मामी और चोटी मामी एक कमरे मे सो जाती हैं।
और उनके पापा अपने कमरे मे।

सुबह जब उठता हूं तो मेरा लन्ड खड़ा था तो मै उसे एडजस्ट करने के लिए दाया हाथ लन्ड पर ले जाता हूं लेकिन मेरा दाया हाथ दर्द हो जाता है तो मेरे मुंह से आह निकल जाती है जिसे सुन बड़ी मामी अन्दर आ जाती हैं मै जल्दी से अपने ऊपर चादर ओढ़ लेता हूं लेकिन उन्होने शायद देख लिया था।
बड़ी मामी: (हसते हुए) अब बाएं हाथ के इस्तेमाल की आदत डाल लो।
मै कुछ नही बोला।
बड़ी मामी: चलो अब उठो फ्रेश हो लो।
अब मै उठा तो सोचा धुलूंगा कैसे।

बाहर आकर देखा तो उनके पापा जा चूके थे लेकिन छोटी मामी नही गई थी।
मै: आप नही गई।
छोटी मामी: इतनी दूर बाइक से कौन जाता है।

मामी:चलो जाओ, फ्रेश हो लो दवाई भी खानी है।
मेरे हाथ में काफी दर्द था।
बड़ी मामी: अरे पापा वाले बाथरूम मे चले जाओ वहा जेट स्प्रे है, अगर फिर भी ना बने तो अपनी मामी को बोलना धो देगी।(हंसने लगीं)

मै शर्माते हुए चला जाता हूं, अन्दर मुझे धुलने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी फिर भी मै टाईम लगा कर आराम से धो लिया।

जब काफी देर हो गई तो, दरवाजे पर
बड़ी मामी: हो गया या मै धो दूं।

अब मै बाहर आ गया।

मामी: नहा लो मूड फ्रेश हो जाएगा।
मै जैसे तैसे नहाने लगा मेरा हाथ काफी दर्द कर रहा था मेरे हाथ की पट्टी भी भीग गई थी।
मामी: कपड़े रहने देना।

मै टॉवल लपेट बाहर आया।
बड़ी मामी: पुरा पट्टी भीग गया ना रूक कल से मैं नहला दूंगी।

अब मै जाकर चड्डी पहनता हूं मेरे बैग से निकाल कर।

मेरे पास कपड़े नही थे तो मामी अपने भाई का पैंट मुझे देती हैं जो मुझे हल्का टाईट हो रहा था।

उनके भाई का कोई भी शर्ट या टी शर्ट मुझे नही आ रहा था।
तब मै उनके पापा का शर्ट पहन लेता हूं जिसमे मै डूबा हुआ था।

सभी मुझे देख हस रहे थे।

अब छोटी मामी मेरा पट्टी खोलती हैं उसे सूखने डालती हैं, मेरा हाथ हल्का सूज गया था । उसको साफ करती हैं।
दर्द काफी हो रहा था।

कुछ देर बाद हम खाना खाते हैं और मै दवाई खा लेता हूं।

दोपहर मे सोफे पर बैठ टीवी देख रहे थे।
आईपीएल का पुराना मैच चल रहा था,।
छोटी मामी RCB का मजाक उड़ा रही थीं।
मै: मामा तो RCB के ही फैन हैं।
बड़ी मामी: अब तेरी मामी भी हो गई है।

मामी एक आरसीबी का टी शर्ट ला मुझे देती हैं और मुझे पहना देती हैं उस शर्ट से मुझे छुटकारा मिला।
मै: ये टी शर्ट तो मामा की है ना।

मामी: हां, ये यही छूट गया था।
बड़ी मामी: शादी के बाद जब पहली बार ससुराल आए थे तो सारा दिन यहीं पहने रहते थे।
मै: अरे हां उस समय आईपीएल भी चल रहा था ना।
मामी: RCB के मैच के दिन तो यहीं पहन कर सो भी जाते थे।
मै:(हंसते हुए) तब तो परफॉर्मेंस मे भारी गिरावट होती होगी।
सभी हंसने लगते हैं।
मामी मेरे कान मडोड़ देती हैं।
मामी: उड़ा लो RCB का मजाक।

बड़ी मामी: तो इसे क्यों पहना दिया कही इसके परफॉर्मेंस मे गिरावट ना आ जाए।

कुछ देर बाद छोटी मामी मेरा पट्टी बांध देती हैं।

अब रात को हम सो जाते हैं।
सुबह मुझे कमजोरी लग रही थी तो मै देर तक सोया रहता हूं बड़ी मामी मुझे उठाने आती हैं तो देखती हैं की मुझे बुखार आ गया है।

वो मुझे उठाती है मुझे नहाने ले जाती हैं सावर ऑन कर मुझे नहलाती हैं।
अब मुझे हल्का लग रहा था मै खाना खा सो जाता हूं।
उस दिन से बड़ी मामी मेरा ख्याल रखती हैं, मेरे साथ वही सोती हैं दिन मे सर की मालिश करती हैं।

अगले दिन पता चला कि अब 21 दिन का लॉक डाउन है,।
छोटी मामी: दीदी पापा का फोन आया था कि लॉक डाउन लग गया है, तो उनकी छुट्टी कैंसल हो गई है, वो परसों उधर से ही ड्यूटी निकल जायेंगे मम्मी अब 21 दिन बाद ही आयेंगी।
मै घर जाना चाहता था लेकिन मामा ने कहा कि लड़कियां अकेली कैसे रहेंगी तो तुम मत जा वैसे भी लॉक डाउन मे कैसे जाएगा।

सात दिन में मेरा हाथ भी थोड़ा ठीक हो जाता है ।

एक रात मुझे नाइट फाल हो जाता है, मै उठता हूं तो सुबह के 5 बजने वाले थे, मै चुपके से उठ अपने कपड़े चेंच करने की सोचता हूं, लेकिन तभी बड़ी मामी उठ जाती हैं।
बड़ी मामी: क्या हुआ बाथ रूम जाना है तो रूम की लाइट जला लो नही तो किसी चीज से टकरा कर गिर जाओगे।
मैने सोचा लाइट जलाऊंगा तो ये मेरा गीला पैंट देख लेंगी।
मै: नही सिर्फ पानी पीना है।
मै बेड पर से ही बोतल उठा पी लेता हूं और वापस चादर ओढ़ सो जाता हूं।
सोचता हूं कि जब मामी उठ चली जाएंगी तब बाथ रूम जा सीधा नहा लूंगा।

मै सो गया तो मुझे नींद आ गई।
7 बजे बड़ी मामी आई और मेरा चादर हटा दिया।
मै उठ गया उन्होने मेरे पैंट पर दाग देख लिया।
मै झट से चादर ओढ़ लिया।
बड़ी मामी:(हंसते हुए) छुपाऊ कैसे लागा चुनरी में दाग।
बड़ी मामी: क्या बाबू सपने मे कौन आई थी।
मै: क्या मामी आप भी ना।
कुछ देर बाद वो चली गई।

मै बाथरूम मे चला गया और सीधा नहाकर ही निकला आज मैने अपना चड्डी और पैंट खुद धो लिया।
मै जब कपड़े पसारने जाने लगा।
मामी : आज तुमने कपड़े खुद क्यों धो लिए मै धो देती ना।
बड़ी मामी: मुझे पता है क्यों धोए हैं।
मै उन्हें इशारे से नही बताने को बोलता हूं।
मामी: अरे क्या इशारे कर रहे हो, तुम लोग मै धो देती ना, अपनी मुझे  अपना नही समझते हो।
मै: अरे नही मामी मै चेक कर रहा था कि मेरा हाथ कितना ठीक हुआ है।
मामी: देखो भीग गया ना पट्टी ।
बड़ी मामी मुझे छेरत हुऐ, लगा चुनरी में दाग, छुपाऊ कैसे, गाती हैं।

अब हम खाना खा ऐसे ही टाइम पास करने लगते हैं।
दिन तो ऐसे ही कभी लूडो तो कभी चेस खेलते निकल जाता है। 2 दिन ऐसे ही निकल जाते हैं।

एक शाम को बड़ी मामी किसी से बात कर रही होती हैं, उसके बाद वो उदास हो जाती हैं, मै उन्हें पहली बार उदास देखा था।

रात मे मै और बड़ी मामी सो रहे थे,।
मै: क्या हुआ है आपको।
बड़ी मामी: कुछ भी नही।
मै बाई करवट लेट जाता हूं उनसे बात करने लगता हूं।

मै: मामी क्या हुआ उदास क्यों हो आप शाम से।
बड़ी मामी: कुछ नही।
मै: कुछ तो बात है वरना आप यूं  चुप चुप नही रहतीं।
बड़ी मामी के आंखों मे आंसू आ जाते हैं।

मै:क्या हुआ कुछ बताएंगी।
वो रोने लगती हैं।
मै उठ कर मामी को बुला लाता हूं। मामी भी पूछती हैं लेकिन वो कुछ नही बोलती बस रोते रहतीं हैं।

अब बड़ी मामी और मामी उस रूम मे सो जाती हैं और मै और छोटी मामी दुसरे रूम मे सो जाता हूं।
मै: क्या हुआ है रो क्यों रही हैं वो आपको कुछ पता है क्या।
छोटी मामी: नही पता है मुझे भी।
मै: शाम को बड़ी मामी किसी से बात कर रही थीं उसके बाद से ही उदास थी, उनका मोबाइल फोन ला दीजिए, पता चलेगा कि किससे बात कर रही थीं।
वो उनका मोबाइल लाती हैं मै देखता हूं तो शाम को किसी Dr Rita गाइनो कर किसी का नंबर शेव था।
मै: कोई डॉक्टर है।
छोटी मामी: 4 साल हो गए शादी को लेकिन कोई बच्चा नही हुआ था तो कुछ दिन पहले डॉक्टर के पास गई थी वही कुछ रिपोर्ट आई है क्या।

मै उनका व्हाट्स अप चेक करता हूं तो dr Rita का मैसेज था उसमे कुछ रिपोर्ट की फोटो थी और चैट था।
चैट मे लिखा था कि आपमें कोई प्रॉब्लम नहीं है आप अपने पति का चेक अप कराएं उनमें ही प्रॉब्लम है।
मामी ने लिखा था कि मै उनसे कैसे बोलूं की उनमें प्रॉब्लम है चलो चेक अप कराएं।
रीता: बोलना तो पड़ेगा ना।
बड़ी मामी: नही मुझसे नही होगा मेरे ससुराल वाले पुराने ख्यालात के हैं वो तो दूसरी शादी की बात कर रहे हैं। कोई और रास्ता नही है क्या।
रीता:तब तो एक ही रास्ता है कि किसी और के स्पर्म से ही आप मां बन सकती हैं चाहे तो स्पर्म बैंक से लेकर या किसी करीबी का।

छोटी मामी: तो इसलिए रो रही है।

कुछ देर हम लोग चुप रहे।
मै मोबाइल मे कुछ स्पर्म बैंक के बारे मे पढ़ने लगा।
छोटी मामी: क्या कर रहे हो।
मै: मै  स्पर्म बैंक के बारे मे गूगल करता हूं।
छोटी मामी: मै सोच रही हूं कि हमारे रिश्तेदार मे कौन कौन है जो स्पर्म दे सकता है।
मै: ऐसे किसी से बात थोड़ी कर सकते हैं प्राइवेसी नाम की भी कोई चीज होती है।
छोटी मामी: इसलिए तो सोच रही हूं कौन कौन हो सकता है, एक तो तुम्हारे मामा हो गए, एक तुम हो गए,
मै:(बीच मे बोलते हुए) अरे नही मै कैसे हो गया।
छोटी मामी: अरे अभी गिन ही तो रही हूं।
मै: हां तो मुझे क्यूं गिन रही हैं।
छोटी मामी: अरे क्या हो गया, क्या तुम हमारे परिवार मे नही आते।
मै: आता हूं, लेकिन मै कैसे।
छोटी मामी: कैसे क्या, क्या अभी मेरे परिवार में किसी को ब्लड की जरूरत पड़ेगी तो तुम मना कर दोगे।
मै: ब्लड की बात अलग है।
छोटी मामी: मुझे तो तुम ही परफेक्ट लगे और तुम्हें सब पता भी चल गया है तो किसी तीसरे को बताना भी नही पड़ेगा।

मै: फालतू बातें छोड़ते हैं और सोते हैं।

अब सुबह उठा तो सब ठीक लग रहा था।
लेकिन बड़ी मामी की आंखें सूजी हुई थी शायद वो रात भर रोई थी।

मामी ने खाना बनाया सब खाकर सोफे पर बैठ गए।
कोई कुछ नही बोल रहा था।

छोटी मामी: अब कब तक मातम मनाओगी जो होना था हो गया अब समस्या का समधान खोजो।

मामी: क्या बोल रही है?
छोटी मामी: अरे इसने सब कुछ पता कर लिया है, कि दीदी क्यों रो रही थी,ये जासूस है।
मामी: तुमलोग क्या हमारी बातें सुन रहे थे।
छोटी मामी: अरे नही दीदी के मोबाइल से।

मामी: तो सब पता चल ही गया है तो कुछ सोचा है।
मै: अरे मैने स्पर्म बैंक के बारे मे सब पता कर लिया है।
मामी: उसमे बहुत टेंशन है ऊपर से मम्मी पापा को पता चला तो बवाल मचा देगें।
मै: अरे कोई टेंशन नही है फूली प्राइवेसी।
मामी: मैने और दीदी ने सोचा है कि किसी करीबी से ही।
छोटी मामी: मैने भी यही सोचा है, और मै तो चाहती हूं कि बात जीतने कम लोगों को पता चले उतना अच्छा है, अगर बात इस हॉल मे मौजूद लोगों तक रहे तो और भी अच्छा है।

मामी: तू कहना क्या चाहती है।
छोटी मामी   मेरी तरफ इशारा करती हैं।) ये।
इतने देर से बडी मामी चुप थीं उदास हो हमारी बातें सुन रहीं थीं।
मेरा जिक्र होते ही वो हल्की सी मुस्कुराती है। फिर अपनी मुस्कान छुपा लेती हैं।
मै: अरे मै नही, मै कैसे ये सब।
मामी: सच बोलूं तो रात मे मै और दीदी भी यही सोच रही थी।
मै: अरे मै कैसे मै नही कर सकता, पहले और लोगों के बारे मे सोचते हैं उनसे बात करते हैं।
मामी: तो तुम ही बताओ।
मै: मामा से बात कर सकते हैं।
मामी: अरे वो नही मानेंगे।
मै: वो नही मानेंगे कि आप ऐसा नही चाहती।
मामी: अरे उनके साथ प्राइवेसी का खतरा है, उनके पेट मे बात नही पचती।
मै: तो मामी के देवर।
मामी: अरे उससे भी प्राइवेसी का खतरा है क्या वो अपने परिवार मे किसी को बता देगा तो।
मै: अरे नही बतायेगा तो और दिक्कत भी तो उसी के भाई मे है।
बडी मामी: वो चूतिया है मै उसके साथ नही करूंगी।
कल शाम के बाद अब उनकी आवाज सुन रहा था।
मै: तो मेरे छोटे मामा।
छोटी मामी: अरे वो मुझे पसन्द नही है, बुरा मत मानना।
मै: तो बड़े मामा।
मामी: अरे उनसे उनकी बीबी खुश नही है।
मै: खुश नही है से क्या मतलब है आपका उनके 3 बच्चे हैं।
मामी: अरे उनकी उम्र हो गई है समझा कर।
मै: तो मामी का कोई पुराना ब्वॉयफ्रेंड।
मामी: इसका कोई बॉयफ्रेंड नही था।
मै: तो आप लोगो मे से किसी का बॉयफ्रेंड।
मामी: अरे हमारा भी नही है।
मै: अब तो मेरा एक भाई ही बचा है चलेगा।
मामी: अबे वो अभी 16 साल का है।

बडी मामी हंसने लगती हैं तो सभी हंसने लगते हैं।
मै: आप हस्ते हुए कितनी अच्छी लगती हैं, कल के बाद आज आपकी हंसी सुन रहा हूं।

छोटी मामी: वो और भी खुश होगी जब इतनी लम्बी जो लिस्ट तुमने बनाई उसमे खुद का भी नाम रख लोगे।

मै: पर मेरा हाथ अभी तक दर्द करता है।
छोटी मामी: अरे हाथ की क्या जरूरत है, जिसका जरूरत है वो तो…….।
मामी: तुझे बडा पता है किसकी जरूरत है।
मै शर्मा जाता हूं।
मामी: देख तू टेंशन ना ले तुझे कोई जबरदस्ती नहीं है।

मै: ठीक है मै सोचूँगा।

अब मै बडी मामी के बारे मे बताता हूं, 27 साल की गोरी सुन्दर लडकी कमर 30 चूंचे 36 गांड़ मोटे मोटे।

सुन्दर नयन नक्श किसी का भी देख ईमान डोल जाए।

अब सारा दिन शर्म के मारे हम एक दुसरे से नजर नही मिला रहे थे, कभी नजरे मिल भी जाती तो शर्मा कर नीचे हो जाती।

रात मे हम और बड़ी मामी साथ सोए थे।
हम दोनो मे कुछ भी बात नही हो रही थी।
तभी उनके मोबाइल की लाइट जली उसमे मामी का मैसेज था कि कुछ बात बनी।

कुछ देर बाद हम बिना बात किए सो गए।

सुबह उठा तो मामी और छोटी मामी हमे सवालिया निगाहों से देख रही थीं अब बडी मामी फिर दिन भर उदास रही आज हमारी नजरे मिलती तो मुझे उनके चेहरे पर उदासी नजर आती।

अब दोपहर में सभी बैठे थे लेकिन कोई कुछ बात नही कर रहा था।
शाम को छोटी मामी मेरे पास अकेले में आई और मेरे कान मे कहा कि अगर तुम हां कर दोगे तो मै तुझे एक ईनाम दूंगी।

मै: क्या बोल रही हो आप?
छोटी मामी: सुनो मेरी बात क्या दीदी का ऐसा चेहरा अच्छा लगता है मुझसे तो देखा नही जाता।
मै: देखा तो मुझसे भी नही जाता, पर।
छोटी मामी: पर वर कुछ नही, देखो दीदी के मन मे है अगर तुम पीछे हट गए तो दीदी तो कभी तुमसे नजर नही मिला पाएगी। क्या तुम उससे नजर मिला पाओगे, ये जानते हुए कि तुम उसकी मदद कर सकते थे पर नही किया।

मै कुछ नही बोला।
छोटी मामी: क्या तुम दीदी की मदद नही करना चाहते।
मै: करना तो चाहता हूं पर।
छोटी मामी: पर वर मत बोलो मदद करो।
मै कुछ नही बोला।
अब रात को खाना खाकर हम सोने चले गए।
बडी मामी और मै साथ सोए थे।
वो आज बहुत ही खूब सूरत साड़ी पहन सो रही थीं।

मै पीठ के बल लेटा था तो मैंने अब बाई करवट ले अपना चेहरा उनके तरफ कर लिया तो उन्होने भी अपना चेहरा मेरे तरफ कर लिया।

वो मुझे देख रही थीं, वो मेरी ओर काफी आशा भरी नजरों से देख रही थीं।

मै: क्या देख रही हैं।
बडी मामी: कुछ नही।
उनके आंखों के किनारे आंसू के बूंद दिखते हैं।
मैं अपना दाया हाथ उठाता हूं उनके आंसू पोछने के लिए लेकिन जल्दी बाजी में मेरा हाथ कही फंस जाता है और दर्द करने लगता है।

मै: आह।
बडी मामी मेरा हाथ पकड़ चूम लेती हैं मैं उनके गाल पर जख्मी हाथ फेरने लगा।

उन्होंने अपना हाथ मेरे गाल पर रख दिया।

मै लाइट बंद कर दीजिए ना।
मामी उठ लाइट बंद कर देती हैं और मेरे बगल मे लेट जाती हैं।

हम दोनो की सांसे काफी तेज चल रही थी।
वो मेरे सीने पर हाथ रख फेरने लगी।

मै:( हंसते हुए ) मै तो हाथ भी नही फेर सकता।
मामी हसने लगी और मेरा चेहरा पकड़ मुझे किस करने लगी उन्होने मुझे अपने ऊपर खींच लिया मै उन्हें अच्छे से किस कर रहा था की तभी मेरा बैलेंस बिगड़ा और मैं उनके बाई साइड लुड़क गया और मेरे दाएं हाथ मे फिर चोट लग गया।

वो उठ लाइट जला देती हैं।
मै उठ बैठा था मै काफी शर्मा रहा था तो मामी मेरे आंख पर हाथ रख मुझे किस करने लगती हैं वो मेरा टी शर्ट निकाल मुझे किस करने लगी अब मुझे लिटा दिया और मेरे कमर के दोनों ओर अपने घुटने टेक मुझ पर लेट किस करने लगी उनके चूंचे मेरे सीने पर लग रहे थे वो मुझे गर्दन पर गले पर सभी जगह चूसने लगी मेरे सीने पर मेरे निप्पल को खूब चूसा मेरे एब्स को चूसा काटा अब मेरे पेडू को चुनने लगीं।

अब वो अपने ब्लाउज खोलने लगी उन्होने ब्लाउस खोल ब्रा भी उतार दी अब मेरा बाया हाथ अपनी दाई चूची पर रख दिया मै हल्के हल्के सहलाने लगा उन्होने झुक कर अपनी चूंची मेरे मुंह से लगा दिया मै उनकी चूंची पीने लगा बाए हाथ से उनकी पीठ सहलाने लगा उनके निप्पल चाटने लगा वो काफी मदोहोश हो गई और आह आह ओह ओह सी सी आवाज निकालने लगी।
अब मेरा पैंट खोल दी और मेरे लन्ड को देख शर्मा गई।
मेरा लन्ड 7 इंच का एक दम पुरा खड़ा था मेरा लन्ड थोड़ा बाई तरफ भागा हुआ है।
उन्होने मेरे लन्ड को पकड़ हल्के हाथों से सहलाने लगी फिर उन्होने चमड़े को पीछे कर दिया मेरे मुंह से सीत्कार निकल गई मैंने कभी सेक्स नहीं किया था।
वो मेरे लन्ड पर अपनी साड़ी उठा बैठने लगी मैंने अभी उनकी चूत भी नही देखी थी।

मैने अपना हाथ उनकी नाभी पर रख दिया और उनके साड़ी को छु दिया वो समझ गई अब उन्होने बैठे बैठे ही अपनी साड़ी उतार दी और पेटीकोट भी उतार दिया। उन्होने पैन्टी नही पहनी थी।

वो शरमाने लगी और मेरे ऊपर झुक मेरा चेहरा अपने सीने पे लगा दिया।
मै उनके चूंचे चुसने लगा लेकिन मै उनका चूत देखना चाहता था मै अपना हाथ से उनकी गांड़ सहलाने लगा।
कुछ देर में वो मुझे किस करने लगी मै अपना बाया हाथ उनके चूत की ओर बड़ाने लगा उनकी चूत मेरे पेडू पर घिस रही थी मुझे गीला गीला फील करा रही थी मै उनकी चूत पर हाथ रख देता हूं वो आह कर उठी, कुछ देर मैने उनकी चूत सहलाई उनकी चूत पूरी तरह से गीली हो गई थी।

अब वो अपने हाथ से मेरे लन्ड को पकड़ कर अपनी चूत में डालने लगी थोड़ा लन्ड उनके अन्दर जाते ही वो चीख उठी सिसकने लगी कुछ देर में वो मेरे सीने पर अपने चूंचे रख मुझे किस करते हुए ऊपर से धक्के लगाने लगी।
मेरा अभी आधा ही लन्ड गया था, मै भी नीचे से गाड़ उठा ताल से ताल मिलाने लगा कुछ जोर के झटके मार वो आह आह कर पुरा लन्ड घुसा लेती है।

कुछ देर वो किस करती हैं जब उनका दर्द कम होता है तो वो फिर ऊपर से धक्के देने लगीं।

कुछ देर में वो थक गई तो रूक गई अब मैंने उन्हे हटा दिया और उनके ऊपर लेट गया मेरा पुरा भार उनके ऊपर था क्योंकि मैं अपने दाएं हाथ पर भार नही ले सकता था, और बाए हाथ से बैलेंस नही बनता।
मै उनके उपर लेट उन्हे चोदने लगता हूं पहले धीरे धीरे फिर जोर जोर से कुछ देर में वो झड़ गई और शान्त हो गई कुछ देर मै उन्हें किस करता रहा जब वो अपनी गान्ड उचकने लगी तो मै फिर से चोदने लगा कुछ15 मिनट  में मैं स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से चोदते हुए मै उनके अन्दर ही झड़ गया, और लन्ड डाले उनके ऊपर ही लेटा रहा। वो मेरे बालों में हाथ फेरती रही।

कुछ देर बाद मैं उनके ऊपर से नीचे उतरा और उनके बगल मे लेट गया उन्होने मुझे सीने से लगा लिया।

अब कुछ देर में हमे नींद आ गई।
फिर भोर में वो मेरे बालों में हाथ फेर रही थीं तोमेरी नींद खुली वो मुझे किस करने लगी कुछ देर बाद हम फिर चुदाई कर सो गए।

अब मेरी आंख तब खुली  जब कोई दरवाजा खटखटाया।

हम जल्दी से अपने कपड़े पहन लिए।
बडी मामी ने दरवाज़ा खोला बाहर छोटी मामी थीं। वो हमे देख चली गई।

कुछ देर में मै भी बाहर निकला छोटी मामी और मामी मुझे देख मुस्कुरा रही थीं और बडी मामी शर्मा रही थीं।

अब मै फ्रेश हो नहाने गया तो बडी मामी भी आ गई वैसे तो वो मुझे पहले भी नहला चूंकि थीं लेकिन आज उन्हें देख मै शरमा रहा था।

मै: आप यहां क्या कर रही हैं।
बडी मामी: नहा देती हूं तुझे।
वो मेरा पैंट खोल देती हैं मेरे झांट के बाल सहलाते हुए।
बडी मामी:ये बहुत चुभे रात मे इन्हें हटा देती हुं।
मेरे बाल 20 दिन शेव किए हो गए थे इसलीय उनके चूत पर चुभ रहे थे।
वो घुटनो पे बैठ गई और क्रीम लगाने लगी फिर बाल साफ कर दिया।
मेरा लन्ड खड़ा हो दर्द कर रहा था।

मै उन्हें खड़ा कर किस करने लगा बाए हाथ से उनकी साड़ी मे हाथ डालने लगा उन्होने अपनी साड़ी उतार दी अब पहली बार मै उनकी चूत देख रहा था।
उनकी चूत एक दम गोरी फूली हुई थी मै उनकी चूत सहलाने लगा
कुछ देर में उनका एक पर कमोड पर रख उनकी चूत में लन्ड डाल दिया वो सिहर उठी आह आह करने लगी मै उन्हें किस करते हुए उन्हें चोदने लगा।

Sexy Mami Ki Chudai Kahani

30 मिनट की जबरदस्त चुदाई के बाद मै उनके अन्दर ही झड़ गया।
अब हम दोनो नहा कर बाहर निकले।

अब हम खाना खा सोफे पर बैठ गए।
अब सबके चेहरे पर मुस्कान थी।
मामी: तो कैसी रही पहली रात।
बड़ी मामी:(मुसकुराते हुए) बस इतना समझ इसने RCB की टी शर्ट नही पहनी थी तो अच्छी तो होनी ही थी।
मामी: हां अब तो मुझे RCB के साथ ही जीवन काटनी है।

हम सभी हंसने लगते हैं।
बडी मामी: वैसे मान गई मै तेरे भांजे मे बहुत दम है।

मामी : जाओ अब तुम दोनो सो जाओ।
बडी मामी और मै सोने आ जाते हैं।
अब रात मे हम सेक्स करते हैं।

कुछ दिन ऐसा ही चलता है।
एक दिन सुबह सुबह ही, जब नहाकर निकलता हूं,
छोटी मामी : चलो जल्दी से डॉक्टर के पास तुम्हारा पट्टी देख लेंगे।
मै: इतनी सुबह कौन डॉक्टर बैठता है।
छोटी मामी: ठीक है खाना खा कर चलना।
मामी: अरे दीदी ले कर चली जाएगी।
छोटी मामी: उस स्कूटी अच्छे से चलानी नही आती गिरा देगी।
अब हम दोनो खाना खा निकल जाते हैं स्कूटी से।
मैने मास्क लगा रखा था पुरा सड़क सुनसान था बस इक्के दुक्के लोग चल रहे थे।

मैने पीछे पकड़ा हुआ था बाए हाथ से उन्होने हाथ पकड़ कमर पर रख दिया और बोला कि पकड़ लो नही तो गिर जाओगे।

मै उनके कमर पकड़ लेता हूं।
वो मुझे एक घर में ले जाती हैं।
मै: यहां कौन सा डॉक्टर है।
छोटी मामी: ये मेरी फ्रेंड का घर है उससे मिलने आई हुं।
अब उसकी फ्रेंड और वो मिलते हैं वो दोनो मुझे बाहर के सीढ़ियों से एक रूम मे ले जाते हैं।
वो कोई स्टोर रूम लग रहा था जिसमे पुराना सोफा रखा हुआ था।

उनकी सहेली हमे ऑल द बेस्ट बोल गेट बंद कर निकल जाती हैं।
मै: ये क्या हो रहा है यहां और उसने गेट क्यों बंद कर दिया।
छोटी मामी: तुम्हें बोला था ना गिफ्ट दूंगी। अपनी आंखें बन्द करो।
मै अपनी आंखे बंद कर लेता हूं वो मेरा हाथ पकड़ अपने नंगे चूचों पर लगा देती हैं।
मै:( हाथ हटाते हुए।) क्या कर रही हैं आप।
छोटी मामी: बोला था ना गिफ्ट दूंगी।
मै:ठीक है अब चलो।
छोटी मामी: नही अभी तो सिर्फ गिफ्ट मिला है अब उसे खोलो उससे प्यार कारो।
मै: पागल हैं क्या मै मामी से बोल दूंगा।
:(मेरे गोद मे बैठ मेरे बाल पकड़ पीछे खींचते हुए किस करने लगी )
छोटी मामी: सुन मामी के भांजे क्या मै तेरी मामी नही हूं, क्या तेरा रिश्ता सिर्फ तेरी मामी से है।
(वो मेरे गाल पर काट लेती हैं)

मै: है, लेकिन आप ऐसा क्यों कर रही हैं।
छोटी मामी: सुन जब मै कोई वादा कर देती हुं तो उसे किसी भी कीमत पर निभाती हुं।
मै: लेकिन ये गलत है मामी को पता चल गया तो।
छोटी मामी: अरे वो कुछ नही बोलेगी मै खुद उसे बताऊंगी देखना।
मै: लेकीन मै ये नही करना चाहता।
उन्होने मेरा दाया हाथ पकड़ लिया। मुझे दर्द होने लगा।
मै: क्या कर रही हैं आप दर्द हो रहा है।
छोटी मामी: प्यार से बोल रही हूं तो मान जाओ ना।
वो मुझे किस्स करने लगी मेरे सीने पर चूमने लगी मेरे गर्दन पर काटने लगी।
मै: आह काट क्यों रही हैं।
छोटी मामी: किस मे साथ दो नही तो और काटूंगी।
अब मै उन्हें किस करने लगा वो ऊपर से नंगी थी।
वो अपने संतरे जैसे चूचे मेरे मुंह मे डाल देते मै उन्हें चुसने लगा।

वो खड़ी हो मेरा शर्ट और जींस उतार मुझे पुरा नंगा कर  देती है।
अब खुद अपनी जींस और पैन्टी उतार देती हैं उनके चूत के होंठ पतले पतले थे वो मुझे धक्का दे सोफे पर बैठा देती हैं और खुद अपने चूत को मेरे लन्ड रख घिसने लगती हैं उन्होने  सुपाड़ा घुसा लिया था ।
वो सिसकारियां भरते हुए निचे बैठने लगी।
कुछ देर में उन्होने आधा लन्ड अन्दर ले ऊपर से चोदना शुरू किया उनकी चूत काफी टाईट थी जिसकी वजह से मेरे लन्ड मे भी जलन हो रही थी अब वो कूदते कूदते पुरा लन्ड घुसा लेती हैं उनकी चूत से खून निकल आया था। वो काफी दर्द मे थीं पर काफी बर्दास्त कर रही थीं।

मै उनके चूचे पीने लगता हूं।
वो आह आह करने लगती हैं।

कुछ देर बाद उन्हें आराम मिलाता है तो वो अपनी गांड़ उठा चुदने लगी।

10 मिनिट बाद वो झड़ गई और थक कर उतर गई।
मै जल्दी से उठने लगा तो उन्होने मेरा लन्ड पकड़ लिया और मुझे अपने ऊपर खींच मेरे कमर को लपेट लिया और अपने हाथ से पकड़ मेरे लन्ड को अपनी चूत में डाल दिया।
मैने धीरे धीरे पुरा लन्ड घुसा चोदने लगा।
करीब 20 मिनट बाद मै झडने वाला था तो मैंने लन्ड बाहर निकाल लिया और झड़ गया।

अब खुद को साफ कर कपड़े पहन लिया।
उसने मुझे किस करना शुरू किया।
मै: चलिए अब कपड़े पहन लिजिए।
छोटी मामी: बहुत दर्द है तुम पहना दो ना।
में उनकी पैंटी ले उन्हे पहना डेटा हूं अब उन्हें खड़ा कर उन्हे जींस पहनाने लगता हूं पीछे गांड़ नही जा रही थी तो मै गान्ड मे दांत लगा काट लेता हूं। वो आह कर उठती हैं।
उनको ब्रा पहनाते हुए उनके बोबे पर काट काट कर निशान बना देता हूं।

कुछ देर आराम करने के बाद हम घर चले आते हैं।
रास्ते में मै बोलता हूं कि मै मामी को बता दूंगा तो वो बोलती हैं कि वो बता देगी।

हम घर पहुंचते हैं मै नहा लेता हूं।

शाम को हम सोफे पे बैठे थे बडी मामी मेरे सिर की मालिश कर रही थी।
मै: बता दूं कि आपने क्या किया आज।
छोटी मामी मामी के कान मे कुछ कहती हैं।
मामी: अरे कोई बात नही ये सब तो चलता रहता है।
मैने सोचा बता दिया होगा।

अब रात को मै और बड़ी मामी प्यार करने लगे तो जब उन्होने मेरा छिला हुआ लन्ड देखा तो पुछा,
बडी मामी: ये कैसे हुआ।
मै: छोटी मामी ने आज मेरे साथ जबरदस्ती की।
फिर मैंने उन्हे सारी बात बताई।

बड़ी मामी: तो इसमें कौन सी बात है , तू तो ऐसे बोल रहा है जैसे तेरी इज्जत लुट ली गई है।

मै वो सब छोड़ो आपके पति को शक नहीं हो जाएगा, हम ये सब कर रहे हैं। आपके पति यहां हैं नही।
बडी मामी: अरे तुम्हारे आने के  दिन वो यहीं थे उस दिन जनता कर्फ्यू का सुन वो चले गए थे। और लॉकडॉउन खुलते ही मै उनके पास चली जाऊंगी।

अब हम दोनो ने एक बार चुदाई करी और सो गए।

ऐसे ही मैं जब तक लॉकडॉन लगा रहा मै वही रहा और उनकी चुदाई की।।

9 महीने बाद उनको एक बेटा हुआ।
वो सभी काफी खुश हैं।

Read More:-

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Employee xxx Sex Story
Office Sex
बॉस ने प्रोमोशन के बदले हैवानों की तरह चोदा | Employee xxx Sex Story

दोस्तो, मेरा नाम मोना है. मैं हैदराबाद में एक कंपनी में एम्प्लॉयी हूँ. मेरी तनख्वाह मेरी जरूरतों के हिसाब से कम पड़ने लगी थी. इसीलिए अपने प्रोमोशन के चक्कर में मैंने अपने बॉस के साथ सम्भोग सम्बन्ध बना लिया था, जिससे मुझे प्रोमोशन तो मिला लेकिन मैं उनकी एक रांड …

Nurse ki chudai ki kahani
Desi Sex Kahani
प्यासी नर्स को अस्पताल की पार्किंग मे चोदा  भाग 1 | Nurse ki Chudai Hindi Kahani

मुझे अस्पताल की पार्किंग में काम मिला. वहां एक सेक्सी नर्स मुझे लिफ्ट देने लगी. उस सेक्सी औरत की हरकतों ने मुझे उसकी ओर जाने को मजबूर कर दिया. दोस्तो, मेरा नाम आदित्य है. मैं जयपुर  का रहने वाला हूँ. अभी 35 साल का हो चुका हूं और 7.6 इंच …

टेलर ने ब्लाउज के साथ मेरी चुत भी फाड़ दी | Tailor Sang Hindi Sex Chudai
Desi Sex Kahani
टेलर ने ब्लाउज के साथ मेरी चुत भी फाड़ दी | Tailor Sang Hindi Sex Chudai

मेरा नाम अंशिका है. मेरी शादी हुए पांच साल हो गए हैं. मेरा एक चार साल का बेटा है. मेरा रंग गोरा है, शादी के इतने साल बाद भी मेरे बदन की कसावट बहुत कालिताना है. खरबूजे के समान स्तन, सांचे में ढला बदन, तीखे नाक नक्श. हम किराये के …