सेक्सी चूत वाली यंग एंजेल

0 0
Read Time:15 Minute, 27 Second

हेलो, आई एम् शान स्टोरी शुरू करने से पहले मैं आपको बता दू Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai कि ये स्टोरी एकदम सच्ची है. इसलिए मैं इसमें रियल नाम नहीं बताऊंगा. ये मेरी पहली स्टोरी है. पहला पार्ट थोड़ा लम्बा होगा, प्लीज पढ़िएगा. उसके बाद वाले पार्ट थोड़ा छोटा होगा, क्योंकि वहां पर इंट्रो की जरूरत नहीं होगा ना.. तो अब मैं कहानी शुरू करता हु. हमारे पड़ोस में एक फॅमिली रहती है. दो भाइयो की एक शॉप है. जो बड़े भाई है और पूरी फॅमिली मिलकर सँभालते है. छोटा भाई कहीं जॉब करता है. वो बहुत पैसे वाला है और बड़े भाई को एक ही लड़की है. सो मैं २ साल से उसको लाइन मार रहा हु, क्योंकि मुझे पता है, शादी के बाद उसकी सारी प्रॉपर्टी जमाई को ही मिलेगी. मेरी शॉप बाजु में ही ताहि और वो जब शॉप पर होती थी, तो मैं भी अपनी दूकान में जाता था. उसके पीछे कॉलेज भी जाता था बट वो पट ही नहीं रही थी. उसका नाम सानया था, ऐज २२ इयर्स, एकदम स्लिम, रंग गोरा बिलकुल दूध जैसा और लुक तो एकदम प्राची देसाई के जैसा.

जब मैं उसके कॉलेज जाने लगा, तो वो भी मुझ को वाच करने लगी. लेकिन बात ६ महीने पहले ही हुयी. तब उसने अपनी चाची को बताया, ये बात कि मैं उसे वाच करता हु. वो भी मुझे देखने लगी थी. चाची की ऐज ३४ साल होगी. उनका नाम छाया था. दिखने में गोरा रंग, गदराया बदन बिलकुल शेप में फिगर, बूब्स और गांड थे. मुझे डर लगने लगा, कि चाची कहीं मेरे घर में ना बता दे. कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा. दिने में मैं घर पर अकेला होता हु ६ बजे तक.. पापा दूकान पर होते है. एक दिन अचानक डोरबेल बजी. मैं नहा कर बैठा था और टीवी देख रहा था और लोअर ही पहना हुआ था. जैसे ही डोर खोला, तो देखा छाया चाची थी. उन्हें देख कर मैं एकदम से डर गया. वो अन्दर आई और मुझसे कहा, कि शान मेरा मोबाइल बिगड़ गया है. जरा देख तो ले. मेरी जान में जान आई. मैंने उन्हें सोफे पर बैठ्या और मोबाइल लेकर देखने लगा. उनके सामने थी बैठा था और मैं उन्हें तिरछी नजरो से देख रहा था. वो सामने बैठ कर मुस्कुरा रही थी.

Hot Pussy

अचानक से उन्होंने मुझ से पूछा – शान तुम सानया को पसंद करते हो?

मैं – हाँ चाची.

चाची – क्यों?

मैं – चाची, वो मुझे अच्छी लगती है और मैं शादी करना चाहता हु उस से.

चाची – शादी करनी है या सिर्फ गर्लफ्रेंड बनाना है?

मैं – दोनों में ज्यादा फरक नही है. गर्लफ्रेंड बना कर शादी करनी है.

चाची – सच में शादी करोगे? या बॉयफ्रेंड बन कर मजे करने है?

मैं – अनजान बनते हुए, मजे मतलब?

चाची – वही, जो शादी के बाद करते है.

मैं – क्या करते है चाची शादी के बाद.

चाची – अनजान मत बनो. तुम्हे सब मालूम है, कि मैं सेक्स के बारे में बातें कर रही हु.

मैं – अगर चाची उसे कोई परेशानी नहीं हो तो. करने में क्या दिक्कत है.

चाची – नहीं. गलत है. वो नहीं करना शादी से पहले.

(चाची ने बात करते हुए, अब मैं पूरी तरह से खुल चूका था)

मैं – पर चाची. अभी तो वो मानी ही नहीं है. मेरी गर्लफ्रेंड ही नहीं बनी है. जब हाँ करेगी, तब देखेंगे.

चाची – अगर उसने हाँ कहा. तो उसकी हर बात मानोगे? और शादी के पहले सेक्स नहीं करोगे?

मैं – तो किसके साथ करूँगा? और शादी करनी है. तो फिर क्या डर? और कोई क्यों करने देगा?

चाची – मिलेगी कोई, और सानया से करते वक्त कुछ हो गया तो उल्टा सीधा..

मैं – फिर तो कोई शादीशुदा ही ढूंढने की जरूरत होगी. आपके जैसी कोई खुबसूरत.

चाची – मेरे जैसी क्यों? मेरे से ही तो नहीं करना चाहते? पर मुझे संभाल नहीं पायोगे?

मैं – क्यों नहीं संभाल पायूँगा? आपके पति ने भी तो संभाला हुआ है आपको? और वैसे भी जवान लड़के हर किसी को खुश कर सकते है. आपने अपने पति से करवाया है. एकबार हम से कर देख लीजिये. पता लग जाएगा..

चाची – ह्म्म्म.. सोचते है. किसी को पता चल गया तो. सानया से क्या कहोगे?

मैं – उस से शादी के बाद कर लूँगा. अभी पहले आप को तो खुश कर दू.

चाची – ओके. बाद में देखेंगे. अभी तो मुझे देर हो रही है. घर जाती हु.

बट मैं सेक्स की बातें करके बहुत गरम हो चूका था और अब मेरे अन्दर का उतावलापन बाहर आने लगा था. मैं उसको अभी चोदना चाहता था. ऊपर से वो येल्लो साड़ी में पटाखा लग रही थी.

मैं – चाची प्लीज. रहा नहीं जा रहा है. जल्दी करेंगे. अभी करते है ना.

चाची – तुम्हारी मम्मी आ जायेंगी.

मैं – नहीं आएँगी. मैं जब तक दूकान पर नहीं जाऊंगा. वो नहीं आएँगी.

इतना कहते ही, मैंने उन्हें अपनी बाहों में ले लिया और उनके होठो पर अपने होठो को रख कर चूसने लगा. ५मिनट चूसने के बाद, उन्होंने अपनी बाहों में उठा लिया और मैं उन्हें अपने बेडरूम में ले गया. वहां ले जा कर मैंने उन्हें नीचे उतारा और उन को पीछे से पकड़ लिया. अब उनकी गांड पर मेरा लंड टकरा रहा था. फिर उनकी गरदन पर चूमने लगा. वो दोनों हाथ मेरे बाहों में डाल दी और दोनों गर्दन को चुमते हुए हुए, मैंने उनकी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दी. पीछे से उनके ब्लाउज के हुक को मैंने अपने हाथो को बढ़ा कर खोल दिया. फिर मैंने उनको सीधा किया और उन का ब्लाउज खीच कर पीछे से हटा दिया. फिर उनके पेटीकोट में हाथ डाल कर उनके पेटीकोट के नाडे को खीच लिया और पेटीकोट के साथ साड़ी भी नीचे गिर गयी. अब वो ब्रा और अंडरवियर में थी और मैंने सामने ऐसे ही खड़ी हुई शरमा रही थी. मैंने भी अब जल्दी से अपना लोअर उतारा और टी-शर्ट भी खोल दी और उन के गालो को अपने एक हाथ से पकड़ लिया और उन्हें थोड़ा तिरछा करके उनके होठो पर अपने होठो को रख कर उनके होठो का रस चूसने लगा.

Virigin Pussy

और दुसरे हाथ से उनके दोनों बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही जोर – जोर से दबा रहा था. मैं जल्दी से उसे गरम चाहता था. मैं उसके होठो को करीब ५ मिनट तक चूसता रहा और जोर – जोर से बूब्स को दबा रहा था. वो गरम होने लगी थी. फिर मैंने उस के एक बूब को मुह में ले कर चूसता रहा. और दुसरे को दो उंगलियों से धीरे – धीरे मसलने लगा. ऐसा करने से फीमेल जल्दी पानी छोडती है और उसे बहुत मज़ा आता है. अन्दर गुद्गुद्दी होती है. दोनों बूब्स को एक – एक करके मसलता रहा और चूस रहा था. बूब्स को मैं मसले और चुसे जा रहा था. वो पानी छोड़े जा रही थी. मैंने दो उंगलिया उसकी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा. उसने मेरे कमर में हाथ डाल दिया और मुझ से चिपक गयी. उसे बहुत मज़ा आ रहा था. वो अहः अहः अहहाह अहहाह अहहाह ऊऊऊ ऊऊऊहोहोहोहोह किये जा रही थी. वो अब तक एक बार झड चुकी थी और पूरी तरह से गरम हो गयी थी. उसने कहा – शान, अब मुझे चोदो ना… अब मुझ से रहा नहीं जा रहा है. ये बहुत प्यासी है और तड़प रही है. उन्होंने अपनी चूत की तरफ इशारा कर दिया.

मैंने उसकी अंडरवियर को निकाल दिया और उसकी चूत पूरी की पूरी क्लीन शेव थी. फिर मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसका अंडरवियर निकाल दिया. मेरा लंड तो एकदम पूरी तरह से पूरा खड़ा हो चूका था. मेरा ७ इंच लम्बा और ३ इंच मोटा लंड देख कर वो एकदम से खुश हो गयी और बोली – क्या मस्त बड़ा लंड है. मेरे पति से बहुत बड़ा है. मेरे पति का ५ इन्च का है और सिर्फ २ इंच मोटा है. मैंने उसके पैरो को थोड़ा सा फैलाया और उसके ऊपर आ गया. उसकी गांड के नीचे मैंने एक तकिया लगा दिया और फिर उसकी चूत थोड़ी सी ऊपर उठ गयी. फिर मैंने अपने लंड को चुकी चूत पर रखा और उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा. उसकी चूत पूरी तरह से पानी छोड़ रही थी. रगड़ते – रगड़ते, मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर सेट किया और हलका सा पुश किया, तो मेरा लौड़ा ४ इंच तक सीधा अन्दर गया. उसकी चूत में इतना गीला था, कि टाइट होने के बावजूद, मेरा मोटा लंड उसकी चूत में आसानी से अपना रास्ता बनाता हुआ गुसता चला गया. मैं कुछ देर के लिए रुक गया और मैंने उसको होठो पर अपने होठो को रख दिया और फिर मैंने उसके होठो को चूसने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी और उसने अपने पैरो से मेरी कमर को जकड लिया और अपने हाथो से मेरी बाहों को जकड लिया और पूरी तरह से मुझ से चिपक गयी.

मैंने फिर उसकी चुदाई चालू कर दी. धीरे – धीरे मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया और उसको होठो को चुसे जा रहा था. ५ मिनट के बाद, मुझे लगा, कि मेरा गिरने वाला है. तो मैं रुक गया (मुझे पता है, कि किसी का भी ५ मिनट या १० मिनट से ज्यादा नहीं टिकता. सब का निकल जाता है. लेकिन फिर भी लोग १ घंटे तक चोदने का दावा करते है. हाँ दूसरी बार जल्दी नहीं होता. बट मुझे फीमेल को पहली बार में ही खुश करना आता है). २ मिनट रुकने के बाद, मैंने पोजीशन को चेंज कर लिया लेटे – लेटे ही. मैंने उसको फिर अपने ऊपर ले लिया. वो मुझे बार – बार जोर से चोदने को बोल रही थी. अगर आपका गिरने वाला हो और आप थोड़ी देर के लिए रुक जाओ और पोजीशन को चेंज कर लो, तो फीमेल भी खुश हो जाती है. पर ध्यान रखो, कि जब रुको, तो उसे शांत मत होने दो. कुछ ना कुछ से एक्टिविटी करते रहो, उसके होठो को चुसो, दातो से काटो, बूब्स को दबाते रहो… चूत के दाने को मसलो… कुछ ना कुछ करके उसको गरम करते रहो..). अब वो भी मुझको अपनी गांड को नीचे से उठा कर अपने आप को चुदवा रही थी.

वो उपर होती फिर मेरे लंड पर बैठ जाती और मेरे पूरा लंड अपनी चूत में जड़ तक ले जाती. वो ऊपर नीचे होकर मुझे चोद रही थी. ५ मिनट चोदने के बाद, मेरा फिर से गिरने वाला था. तो मैंने उसे रुकने को कहा और अपने बाहों को उसके सीने से चिपका लिया इर उसके होठो को जोर – जोर से चूसने लगा. उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा. धीरे – धीरे से बूब्स को मसलने लगा. ५ मिनट तक बाद उसे खड़े – खड़े चोदने लगा. फिर मैंने मेरी फेवरेट पोजीशन में उसे खड़े – खड़े गोद में उठा कर उसको चोदने लगा. उसने मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया और अपने दोनों पेरो को मेरी कमर में डाल कर फसा लिए. वो मुझ से लिपट गयी और मैंने उसकी गांड को अपने हाथो से पकड़ लिया और उसको अपने लंड पर आगे – पीछे करने लगा. मैंने उसको मस्ती में चोद रहा था. फिर फिर ५ मिनट के बाद झड़ने वाला था, तो मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और अब जोर – जोर से अपने लंड को उसकी चूत में पेलना शुरू कर दिया. फिर मैं उसकी चूत में ही झड गया और वो भी ३ बार झड चुकी थी. इसलिए उसकी चूत इतनी चिकनी हो चुकित ही, कि मेरा लंड आराम से उसकी चूत की पूरी जड़ तक जा रहा था.

फिर हम दोनों ने एक दुसरे को लिपट कर कुछ देर पकडे रखा और सो गये. उसने बताया, कि उसे आज तक इतना मजा कभी नहीं आया है. उसके पति उसको नंगा करते है और चोदते ही झड़ जाते है. ना उसे चूसते है, ना चुमते है. वो शांत नहीं होती है. अगर वो चूस कर उनके लंड को दौबारा खड़ा भी करती है, तो भी वो उसे मस्त नहीं चोद पाते है. फिर वो सो जाते है और वो उंगलियों से अपने को शांत करने को कहती है. तो उसको मना कर देते है. फिर वो खुद ही उंगलियों से शांत होती है और सो जाती है. फिर हमने उठ कर कपड़े पहने और जब वो जाने लगी, तो मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और कहा – मुझे सानया को चोदना है. प्लीज हेल्प करो ना. उसने कहा – कल दोपहर वो पर सानया घर पर अकेले होंगे. जब उस से पूछ लुंगी. फिर बताउंगी और आह की चुदाई वाली बाद भी बताउंगी. क्योंकि वो उस से कुछ नहीं छुपाती है और उनकी एक राज वाली बात भी बताई. वो मैं आप लोगो को अगली स्टोरी में बताऊंगा. प्लीज मुझे बताना, कि आप को मेरी ये कहानी कैसी लगी और में दूसरी कहानी का वेट भी करना… तब तक के लिए अलविदा…

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Comment