दो बदन एक बिस्तर मे- Hindi Sex Stories

Hindi Sex Stories

दिल्ली में मेरी जॉब को लगे हुए अभी कुछ दिन ही हुए थे और मैं जिस कॉलोनी में रहता हूं वहीं पर पायल भी रहा करती थी पायल अपने परिवार के साथ रहती है और मैं उसे अक्सर आते-जाते देखा करता था। जब भी मैं शाम के वक्त ऑफिस से लौटता तो पायल मुझे दिख जाती थी मैं चाहता था कि मैं पायल से बात करूं लेकिन मैं पायल से बात नहीं कर पाया था क्योंकि मेरे अंदर हिम्मत ही नहीं हुई कि मैं पायल से बात करूं।

एक दिन मैं घर पर ही था उस दिन मैं अपने घर के छत पर ही था और पायल भी छत पर कपड़े सुखाने के लिए आई हुई थी मैं पायल को देख रहा था तो वह मेरी तरफ देख रही थी। मैं सोचने लगा कि क्या यह ठीक होगा कहीं उसे कुछ गलत ना लगे इसलिए मैंने सोचा कि मुझे अब छत से नीचे चले जाना चाहिए।

मैं छत से नीचे जाने ही वाला था कि पायल ने मुझे अपने हाथों से इशारा किया और जब पायल ने मुझे इशारा किया तो मैंने उसकी तरफ देखा उसने मुझे इशारों में कहा कि तुम नीचे आ जाओ। मैं जब घर से बाहर आया तो पायल भी घर से बाहर आई और वह मुझसे बातें करने लगी मैंने तो कभी सोचा भी नहीं था कि पायल मुझसे बातें करने लगेगी।

पायल के बारे में मैं ज्यादा तो नहीं जानता था लेकिन मैं उसे अक्सर आते जाते देखता तो मुझे बहुत ही अच्छा लगता लेकिन अब पायल और मेरी बातें होने लगी थी तो मैं बहुत ही खुश हो गया था कि पायल मुझसे बातें करने लगी है। मैं और पायल एक दूसरे से बातें करने लगे थे पायल ने मुझे अपनी सगाई के बारे में बताया कि उसकी सगाई हो चुकी थी लेकिन उसकी सगाई टूट जाने के बाद वह काफी दुखी हो गई थी।

पायल मुझसे हर एक बात शेयर करने लगी थी मैं भी पायल के साथ हर एक बात शेयर करने लगा। मेरा घर लखनऊ में है और मुझे पायल का साथ पाकर बहुत ही अच्छा लगा पायल और मेरे बीच की नजदीकियां बढ़ने लगी थी और हमारी दोस्ती भी काफी गहरी हो चुकी थी।

अमीर घर की औरत की रात भर चुदाई | Hindi Sex Rich Story

मैं पायल को अपने दिल की कहना चाहता था लेकिन मुझे थोड़ा घबराहट सी हो रही थी मैं सोचने लगा कि कहीं मैं पायल से अपने दिल की बात कहूं और वह कुछ गलत ना समझ ले इसलिए मैंने पायल से कुछ भी नहीं कहा। हम दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त है जब भी उसे मेरी जरूरत होती तो मैं हमेशा पायल के लिए तैयार रहता हूं।

पायल के ऑफिस में एक लड़का है जो कि उसे बहुत ही परेशान करता था जिसकी वजह से पायल ने ऑफिस छोड़ दिया। मैंने पायल को समझाया लेकिन पायल को बिल्कुल ठीक नहीं लगा और उसने अपने ऑफिस से रिजाइन दे दिया ऑफिस छोड़ देने के बाद मैंने पायल से कहा कि तुम हमारे ऑफिस में जॉब के लिए ट्राई कर सकती हो। पायल कहने लगी कि ठीक है और उसने हमारे ऑफिस में जॉब के लिए ट्राई किया तो उसका हमारे ऑफिस में सिलेक्शन हो गया।

पायल और मैं और भी ज्यादा नजदीक आ चुके थे क्योंकि हम दोनों सुबह साथ में ही ऑफिस के लिए जाते और शाम को भी साथ में हीं घर लौटा करते। मुझे पायल के साथ ज्यादा समय बिताने का मौका मिल रहा था और पायल को भी काफी अच्छा लगता है जब हम दोनों साथ में होते है।

मैं और पायल एक दूसरे के साथ काफी खुश थे और मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा महसूस होता जब भी पायल और मैं एक दूसरे से बातें किया करते। एक दिन पायल के पापा की तबीयत खराब थी पायल के घर पर कोई भी नहीं था तो पायल ने मुझे फोन किया, पायल के भैया भी अपने ऑफिस के काम के सिलसिले में कहीं बाहर गए हुए थे जिससे कि मैं ही पायल के पापा को नजदीकी अस्पताल में ले गया।

यह पहला मौका था जब मैं पायल के परिवार वालों से मिला पहले मैं कभी पायल के पापा मम्मी से मिला नहीं था। पायल के पापा मम्मी से मिलकर मुझे बहुत ही अच्छा लगा और वह लोग भी मुझे काफी पसंद करने लगे थे। मैं अक्सर उन लोगों के घर पर जाने लगा पायल के घर मैं जब भी जाता तो मुझे एक अपनापन सा महसूस होता।

एक दिन मैं पायल के घर पर गया हुआ था जब मैं पायल के घर पर गया तो पायल के पापा मम्मी ने मुझसे पायल की शादी के बारे में कहा। मैंने उन्हें कहा कि क्या आप लोग पायल के लिए लड़का ढूंढ रहे हैं तो उन्होंने मुझे बताया कि हां हम लोग पायल के लिए लड़का तलाश कर रहे है। मुझे भी लग रहा था कि मुझे पायल को अपने दिल की बात कह देनी चाहिए कहीं ज्यादा देर ना हो जाए मैं भी इस मौके को छोड़ना नहीं चाहता था मैंने भी पूरा मन बना लिया था कि पायल को मैं अपने दिल की बात कह दूंगा।

मैंने पायल से ऑफिस में कहा कि पायल आज मैं तुम्हारे साथ डिनर पर जाना चाहता हूं तो पायल भी मेरी बात मान गई और कहने लगी कि ठीक है और उस रात हम दोनों साथ में डिनर पर चले गए। जब हम दोनों डिनर पर गए तो मैंने पायल को प्रपोज करते हुए एक रिंग दी और पायल ने भी मेरा प्रपोज स्वीकार कर लिया था।

मैं तो बेवजह ही डर रहा था मुझे लग रहा था कि कहीं पायल मेरे दिल की बात को मना ना कर दे लेकिन उसके बाद पायल और मेरे बीच रिलेशन शुरू हो चुका था। हम दोनों एक दूसरे को डेट कर रहे थे और मुझे पायल के साथ बहुत ही अच्छा लगता जब भी हम दोनों एक दूसरे के साथ होते तो हम दोनों अच्छा समय बिताते।

हम लोग एक दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताने की कोशिश करते मुझे तो ऐसा लग रहा था जैसे कि मैं कोई सपना देख रहा हूं मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि पायल और मैं साथ मे रिलेशन में रहेंगे और पायल और मैं एक दूसरे के नजदीक आ जाएंगे। हम दोनों बहुत खुश थे हम दोनों एक दूसरे के काफी नजदीक आ चुके थे और हम एक दूसरे से बहुत प्यार करने लगे थे। पायल मुझसे मिलने के लिए घर पर आ जाती थी क्योंकि मैं घर पर अकेला ही रहता था इसलिए कई बार पायल मेरे लिए खाना बना देती।

जब भी वह मेरे लिए खाना बनाती तो मुझे बहुत ही अच्छा लगता। एक दिन पायल घर पर आई हुई थी वह मेरे लिए नाश्ता बना रही थी मैंने पायल को कहा पायल रहने दो मैं कुछ बाहर से ऑर्डर कर देता हूं लेकिन पायल मेरी बात कहां मानाने वाली थी और वह किचन में चली गई वह मेरे लिए नाश्ता बना कर ले आई थी। हम दोनों ने साथ में नाश्ता किया क्योंकि हम दोनों की छुट्टी थी तो हम दोनों साथ में ही थे।

मैं और पायल साथ में बैठे हुए थे जब हम दोनों साथ में बैठे हुए थे तो मैंने पायल की आंखों की तरफ देखा और उसकी आंखों में मुझे अपने लिए एक अलग ही प्यार नजर आ रहा था। मैंने पायल के होंठो को चूमना शुरू कर दिया मैं जब पायल के हाथों को सहला रहा था तो मुझे मज़ा आ रहा था और पायल को भी बड़ा अच्छा महसूस हो रहा था। वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है मैं पायल के हाथों को सहलाता।

मै उसके स्तनों की तरफ अपने हाथ को बढ़ाने लगा जब मैंने पायल के स्तनों की तरफ अपने हाथ को बढ़ाना शुरू किया तो मुझे मजा आने लगा और पायल को भी बड़ा आनंद आने लगा था। अब हम दोनों एक दूसरे की गर्मी को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे ना तो मैं अपने आपको रोक पा रहा था और ना ही पायल। हम दोनों एक दूसरे के होठों को किस करने लगे हम दोनों एक दूसरे से चुम्मा चाटी करने लगे थे।

हम दोनों को ही मजा आने लगा था अब हम दोनों के अंदर की गर्मी इतनी ज्यादा बढने लगी थी कि मैंने पायल से कहा मैं बिल्कुल भी रह नहीं पाऊंगा। मैंने अब अपने मोटे लंड को बाहर निकालकर हिलाना शुरू कर दिया जब मैं अपने मोटे लंड को हिला रहा था तो मेरे अंदर की गर्मी बढ़ रही थी और पायल भी अब पूरी तरीके से उत्तेजित होती जा रही थी।

उसने जैसे ही मेरे मोटे लंड को अपने हाथों में लेकर उसे हिलाना शुरू किया तो उसको मजा आने लगा और मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आ रहा था मेरे अंदर की गर्मी पूरी तरीके से बढ़ चुकी थी और पायल के अंदर की गर्मी भी बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी। वह बिल्कुल भी रह नहीं पा रही थी मैंने पायल को कहा क्यों ना मैं तुम्हारी योनि को भी चाटू।

पायल उत्तेजित हो चुकी थी उसने अपने बदन से कपड़े उतार कर जब वह मेरे सामने नग्न अवस्था में थी तो मैं उसे देखे जा रहा था और मेरे अंदर की गर्मी बढ़ चुकी थी। मैंने अब पायल की योनि के अंदर अपनी जीभ से चाटने शुरू कर दिया जब मैं ऐसा कर रहा था तो पायल को मजा आ रहा था।

पायल की चिकनी चूत को चाट कर मुझे बहुत मजा आ रहा था और उसे भी बहुत मजा आ रहा था। उसके अंदर की गर्मी बढ़ रही थी वह मुझे कहने लगी मेरे अंदर की आग पूरी तरीके से बढ़ चुकी है तुम जल्दी से मेरी गर्मी को शांत कर दो। मैंने पायल की योनि पर अपने लंड को रगडना शुरू किया। वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है अब उसे बहुत ही ज्यादा अच्छा लगने लगा था इसलिए मेरे अंदर की आग और भी ज्यादा बढ़ चुकी थी।

अब मैंने पायल को और भी तेजी से धक्के मारने शुरू कर दिए थे। पायल की योनि के अंदर बाहर मैं जब अपने मोटे लंड को किए जा रहा था तो मुझे बहुत ही मजा आ रहा था और पायल को भी मजा आने लगा था। पायल के अंदर से निकलती हुए गर्मी बढ़ चुकी थी और मेरे अंदर से निकलती हुई गर्मी इतनी ज्यादा बढ़ चुकी थी कि मैंने पायल को कहा मुझे मजा आ रहा है।

पायल बोली तुम अपने माल को मेरे अंदर ही गिरा दो। पायल की चूत से निकलता हुआ पानी कुछ ज्यादा ही बढ़ चुका था मैंने जैसे ही पायल की चूत के अंदर अपने वीर्य को गिराया तो पायल को मजा आ गया। पायल बहुत ही ज्यादा खुश थी हम दोनों एक दूसरे के साथ पूरी तरीके से मजे ले पाए।

हम दोनों को बहुत ही अच्छा लगा जब हम दोनों ने एक दूसरे से सेक्स का मजा लिया और हम दोनों ने एक दूसरे के साथ जमकर सेक्स का मजा लिया था। उसके बाद भी हम दोनों एक दूसरे के साथ सेक्स करते। जब भी हमे एक दूसरे की जरूरत होती तो हम दोनों हमेशा एक दूसरे के साथ होते।

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Desi Sex Kahani
एक मुलाकत जरूरी है जानम- Desi Sex Kahani

मेरा परिवार गांव में ही रहता है मैं हरियाणा का रहने वाला हूं गांव में हम लोग खेती बाड़ी करके अपना गुजारा चलाते हैं। पिताजी भी अब बूढ़े होने लगे थे और मैंने भी जैसे तैसे अपनी पढ़ाई पूरी कर ली थी लेकिन वह चाहते थे कि मैं किसी अच्छी …

Mami ki Chudai ki Kahani
XXX Story in Hindi
चूतों के सागर में गोते लगाए- XXX Story in Hindi

मै लखनऊ का रहने वाला हूं दिल्ली से ही मैंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी की थी और उसके बाद मैं दिल्ली में ही जॉब करने लगा। मैं जिस कॉलोनी में रहता था उसी कॉलोनी में मेरी मुलाकात संजना के साथ हुई संजना से धीरे-धीरे मेरी दोस्ती होने लगी थी …

Antarvasna Sex Story
ऐसा चोदा की लंड भी ढीला पड़ गया- Antarvasna Sex Story

मैं अपने ऑफिस की ट्रेनिंग के लिए कुछ दिनों के लिए बेंगलुरु जा रहा था कुछ दिनों पहले ही मैंने अपना ऑफिस ज्वाइन किया था और करीब 10 दिनों की मेरी बेंगलुरु में ट्रेनिंग थे और उसके बाद मुझे वापस पुणे में ही ज्वाइन करना था। मैं अपना सामान पैक …