होने वाली भाभी की कुँवारी चुत को फाड़ डाला | Kuwari Bhabhi Ki Chudai Kahani

होने वाली भाभी की कुँवारी चुत को फाड़ डाला | Kuwari Bhabhi Ki Chudai Kahani
Busty Bhabhi

मेरा नाम रोहित मिश्र है, मैं नागपुर का रहने वाला हूँ। यह सेक्स कहानी मेरे जीवन की है, जिसमें मेरे साथ हुआ अनुभव मैं आपसे शेयर कर रहा हूँ।

मैं एक कुशल डीजे हूँ.. मेरा काम ही मेरा नाम है, जिस वज़ह से कई लड़कियां भाभियाँ और आंटियां मुझे लाइन देती हैं। इसके चलते मुझे सेक्स के लिए चुत की कभी कमी नहीं हुई।

एक दिन मैं काम पर गया, वहाँ सब लोग मेरी तारीफ कर रहे थे।

अचानक वहाँ एक लौंडिया आई, सुडौल.. कामुकता से भरपूर उसके नितम्ब माहौल में आग लगा रहे थे.. उसके मम्मे एकदम तबाही थे.. उसके उसका फिगर 36-24-38 था। उसे देख कर तो मेरे होश ही उड़ गए।

मेरा पूरा ध्यान उस पर था.. मैं अपना काम भी भूल गया था। मेरे दिल सोचने लगा कि इसके साथ सेक्स करने में कितना मजा आएगा।
अभी मैं उसे चोदने की सोच ही रहा था.. और इसी सोच के चलते उसके बारे में जानकारी लेनी चाही, मैंने वहाँ के वेटर से पूछा- ये कौन है?
उसने बताया कि ये दूल्हे की बहन है।

मैंने उसका नाचने आने का इंतज़ार किया और सोचा यहीं बात बढ़ाऊंगा।

मैंने कुछ देर ऐसे गाने लगाए, जिससे उसका ध्यान मेरी तरफ आए। कुछ देर बाद वो मेरी आँखों में आँखें डालकर देखने लगी और अगले कुछ ही पलों में वो डांस करने आ गई।

मैंने उसे आँख मारी.. तो वो हँसने लगी।
अब लौंडिया हंसी तो समझो फंसी!

Read More:- दोस्त की कुंवारी गर्लफ्रेंड की पहली चुदाई | Hindi Kahani Sex Story

थोड़ी देर बाद वो कॉफी पीने चली गई.. मैं भी उसके पीछे आ गया। मैंने उससे बात करना शुरू किया, उसकी आँखों में साफ़ दिख रहा था कि वो भी मुझसे चुदवाने के लिए उतावली है।

मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?
वो बोली- हाँ.. पर उससे क्या फर्क पड़ता है..! तुम अपने काम के बारे में बोलो.. बाकी ताक-झांक क्यों कर रहे हो?

मैंने सीधे-सीधे कह दिया- कुछ देर पहले तुम्हे देखा, तो लगा कि तुमसे कोई तो रिश्ता होना चाहिए.. वैसे तुम्हारे पिताजी क्या आतंकवादी हैं?
वो सकपका कर बोली- नहीं तो.. क्यों?
मैंने कहा- ऐसा बम तो कोई क्रिमिनल ही बना सकता है.. सर से पाँव तक पटाखा हो!

वो मेरे बिंदास अंदाज को देखकर हंसने लगी और बोली- तुम क्या मुझ पर लाइन मार रहे हो?
मैं बोला- नहीं मैं तुम पर लाइन नहीं, पूरा बिजली विभाग मार रहा हूँ.. ताकि लाइन कम ना पड़ जाए!
फिर वो हंस कर बोली- यहाँ बहुत लोग हैं.. चलो छत पर चलते हैं, वहाँ बात करेंगे।

हम लोग छत पर आ गए, वो मुझे देख मुस्कुरा रही थी, तो मैं मन ही मन सोच रहा था कि उसे गले लगा ही लूँ।
तभी अचनाक उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- तुम मुझे बहुत अच्छे लगे..!
यह सुनकर मेरे होश गुम हो गए.. क्योंकि इतना मस्त माल आज मुझे चोदने मिलने वाला था।

हम लोग वहाँ से एक कमरे में आ गए। फिर मैंने उससे कहा- क्या मैं तुम्हें चूम सकता हूँ?
वो शरमाकर बोली- कर लो..

मैंने उसे गले लगाया और उसके रसीले होंठों को चूसने लगा.. साथ ही मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी कमर में डाल दिया, इससे वो अचानक सिसक गई उसके रोंगटे खड़े हो गए।
अब मैं भी मूड बना चुका था, मैंने उससे कहा- तुम लेट जाओ।

वो आँखें बंद कर लेट गई, मैंने धीरे से उसके मम्मों को सहलाना शुरू किया.. वो कामुकता से सिसकने लगी। फिर धीरे से मैंने उसकी कुर्ती उतार दी, नीचे की सलवार भी उतार दी। अब वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी.. वो ब्लैक कलर की ब्रा और ब्लू कलर की पेंटी में पूरी आग लग रही थी।

Kuwari Bhabhi Ki Chudai Kahani


वो मुझे देख कर नशीली आवाज में बोली- तुम भी तो अपने कपड़े उतारो मुझे शर्म आ रही है।
मैंने झट से अपने कपड़े निकाल दिए और अपना लंड उसके हाथ में दे दिया।

लंड थामते ही वो डर गई- हाय राम इतना बड़ा.. मैं तो मर जाऊँगी!
मैंने कहा- इसे गर्म कर दो!
वो बोली- कैसे?
मैंने कहा- मुँह में लेकर चूसो ना..

वो हँस दी और लंड मुँह में लेकर चूसने लगी।

आह्ह.. क्या बताऊँ उसके मुँह की गर्मी क्या जलजला थी.. साली लंड को चाट-चाट कर चूस रही थी वो.. उम्म्ह… अहह… हय… याह…

फिर थोड़ी देर बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा वीर्य पी गई।

कुछ देर बाद मैंने उसे लेटा दिया और उसकी ब्रा खोल दी.. अब मैं उसके मम्मे चूसने लगा। उसकी कामुक सिसकारियों से रूम गूंज रहा था ‘आह.. ओह.. ऊऊऊह..’

फिर मैंने उसकी पेंटी निकाल दी और देखा कि उसकी गुलाबी मखमली चुत बिल्कुल चिकनी कुंवारी दिख रही थी। उसकी चुत की सील तोड़ने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ था।

मैंने झट से चुत को चाटना शुरू कर दिया और वो पूरी तरह गर्म हो गई ‘ऊऊह.. आआह.. उई.. मर गई..’
कुछ ही पलों की चुत चुसाई के बाद वो अब पूरी तरह चुदने को तैयार थी।
उससे रहा नहीं जा रहा था.. वो बोली- रोहित जल्दी से मेरी सील तोड़ दो.. मुझसे रहा नहीं जा रहा है।

मैंने झट से अपने लंड का सुपारा उसकी चुत पर लगाया और ज़ोर से धक्का लगा दिया.. पर लंड चुत में अन्दर न जाते हुए फिसल गया। फिर मैंने हाथ से लंड पकड़ कर सुपारा उसकी गुलाबी चुत में लगाया और पूरी ताकत लगा दी।

अबकी बार निशाना लग गया.. थोड़ा लंड अन्दर घुस गया, पर सील तो टूटना बाकी थी, वो दर्द से तड़फ रही थी।

मैंने थोड़ा और जोर से लंड पेला, तो वो चिल्ला उठी- बाहर निकालो.. मैं मर जाऊँगी..!

मैंने उसे कसके गले से लगाया और हम दोनों कुछ देर यूं ही पड़े रहे।

थोड़ी देर बाद मैं धीरे-धीरे हिलने लगा.. उसकी चुत से खून बह रहा था.. पर उससे भी अब मज़ा आ रहा था। मैं जोर-जोर से चोदने लगा.. फिर अलग-अलग पोजीशन में मैंने उसे चोदते हुए पूरा निचोड़ लिया। वो झड़ गई.. पर मेरा झड़ना अभी बाक़ी था। मै उसे करीब ३० मं तक चोदा वो दर्द के मारे मुझसे बहार निकलने के लिए कह रही थी | पर उसकी सिसकियों भरी आवाज़ को सुनकर मुझे और जोश आ रहा था |

मैंने अपना लंड चुत से बाहर निकाल लिया और उसे रूमाल से पोंछ कर चूसने को कहा.. तो वो चूसने लगी।

करीब 5 मिनट की लंड चुसाई के बाद मैं उसके मुँह में झड़ गया और वो मेरा वीर्य पी गई, उसने लंड चाट कर साफ किया।

ये सब होने के बाद हम कपड़े पहना कर तैयार हुए और नीचे शादी में चले गए। थोड़ी देर बाद मुझे पता चला कि उसी लड़की का रिश्ता मेरे भाई से जुड़ा है और कुछ समय में वो दोनों शादी करने वाले थे।

मैं सोच में पड़ गया कि मैंने अपनी होने वाली भाभी को चोद दिया।

Read More:-

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hot Bhabhi ki Chudai
हर रोज भाभी को नए नए पोज में चुदाई- Hot Bhabhi ki Chudai

मां मेरे कमरे में आई उस वक्त मैं कुर्सी पर बैठा हुआ था मां मेरे सामने आकर बैठी और कहने लगी कि ललित बेटा क्या तुम कल तुम्हारे भैया से मिल आओगे। मैंने मां से कहा कि मां कल तो मुझे समय नहीं मिल पाएगा लेकिन परसों मैं भैया से …

Desi Sex Kahani
एक मुलाकत जरूरी है जानम- Desi Sex Kahani

मेरा परिवार गांव में ही रहता है मैं हरियाणा का रहने वाला हूं गांव में हम लोग खेती बाड़ी करके अपना गुजारा चलाते हैं। पिताजी भी अब बूढ़े होने लगे थे और मैंने भी जैसे तैसे अपनी पढ़ाई पूरी कर ली थी लेकिन वह चाहते थे कि मैं किसी अच्छी …

Mami ki Chudai ki Kahani
XXX Story in Hindi
चूतों के सागर में गोते लगाए- XXX Story in Hindi

मै लखनऊ का रहने वाला हूं दिल्ली से ही मैंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी की थी और उसके बाद मैं दिल्ली में ही जॉब करने लगा। मैं जिस कॉलोनी में रहता था उसी कॉलोनी में मेरी मुलाकात संजना के साथ हुई संजना से धीरे-धीरे मेरी दोस्ती होने लगी थी …