दिल्ली की चुदासी लड़की को 3 लोगों ने मिलकर शांत किया- Group Sex Story

Group Sex Story
Group Sex Stories

ये कहानी आज से करीब 2 साल पुरानी है। जब मैं शादी करके दिल्ली से देहरादून गई। जेसा की आप सबको पता ही है दिल्ली की लड़कियां एक नंबर की चुड़क्कड़ होती हैं। तो मैं भी उन सब लड़कियों से एक हूँ। मेरा फिगर 34-32-38 है और मेरी उम्र 25 साल है। मेरी शादी 23 साल की उम्र में ही हो गई थी। और 23 साल की उम्र में मैंने करीब 50 से ऊपर लंड का स्वाद चक लिया था। दिल्ली की चुदासी लड़की को 3 लोग मिल कर शांत कर पायें।

मुझे अपनी चूत से ज़्यादा गांड मरवाने का बहुत ही शोक है इसलिए मेरी गांड का साइज 38 से भी ज्यादा हो गया है। मैंने अपने घर दिल्ली में रहते हुए बहुत मजे किये। मैंने अपनी जवानी का शुख 17 साल की उम्र से शुरू कर दिया था। मेरी शादी 22 साल की उम्र में ही कोमल से पक्की हो गई थी। और उसी दिन से मैंने अपनी चूत और गांड मरवाना बंद कर दिया था। और साथ ही चूत में गाजर मुली और कैंडेल डालना बंद कर दिया था।

क्योंकि मुझे पता था कि अभी शादी को 1 साल पड़ा है। तोह मेरी चूत जो चुद चुकी है इतनी खुली हो गयी है। कि एक मुली भी हमें डालूं तो उसका पता तक नहीं चलता। इसलिए मैंने अपनी चुदाई बंद कर दी थी। मैं चाहती थी कि मेरी पति कोमल मेरी चूत मार कर ये ना कह दे कि मैं तो एक नंबर की गस्ती हूं। हां ये बात तो जरूरी है कि जब मेरी चूत में ज्यादा खुजली होती थी। तो मैं अपनी चूत को ऊपर से रगड़ कर उसका पानी निकाल सकती हूं और उसे शांत कर लेती थी।

आज की तारीख में मैं एक साथ 3-3 मर्दों से चुदूंगी। क्योंकि अब मेरा एक मर्द या आप कह सकते हैं कि मेरा एक लंड से कुछ नहीं बनता। ये आदत मुझे मेरी सुहागरात से बन गई थी। क्योंकि मेरे पति ने मेरे ऊपर पहली रात ही अपने साथ अपना दोस्त नकुल। और अपना बड़ा भाई मुकेश दोनों को एक साथ मेरे ऊपर चढ़ा दिया था। उस रात एक लंड मेरे मुँह में और दूसरा मेरी चूत में और तीसरा मेरी गांड में।

क्या बताऊं दोस्तो क्या कमाल की वो रात थी। उस रात मैं करीब सुबह के 5 बजे तक चुदी। और उस दिन मुझे जो मजा आया वो मजा तो अपनी पूरी जिंदगी में कभी नहीं आया। हां शुरू शुरू मुझे डर भी लग रहा था। और मुझे दर्द भी काफी ज्यादा हो रहा है।

पर बाद में मुझे जो मजा आया वो मजा शायद कभी दोबारा मिल पाए। ऐसी बात नहीं है कि अब मैं 3 मर्दों से नहीं चुदी। मैं आज भी महीने में करीब 2 बार एक साथ उन दोनों से जम कर चुदती हूं।

पर फिर भी पहली बार वाला मजा नहीं आता। दोस्तो मैं सच कह रही हूं। मेरी ये कहानी जो भी लड़की पढ़ रही है उसे मैं कहना चाहती हूं। कि ये जिंदगी सिर्फ और सिर्फ 4 दिन की है, इसलिए आप इस जिंदगी में सिर्फ एक 3 लंड से चुद कर देखें। मैं सच कहती हूं कि आपको इतना मजा आएगा। कि आप हमें मजे के बार में कभी सोच भी नहीं सकते। जब एक लंड आपकी चूत में होगा और दूसरा आपकी गांड में होगा।

और वो जोर जोर से अपनी चूत और गांड में अंदर बाहर होंगे। और आपको मीठा मीठा दर्द होगा और तभी तीसरा लंड आप के मुँह में चला जायेगा। जिस वजह से आप की आवाज तक बहार नहीं आएगी। और आप एक तरह से जबरदस्त वो लंड दर्द से चूसना पड़ेगा। पर मैं कहना चाहती हूं कि उस समय हमारे लंड का स्वाद भी आप को अलग लगेगा। आपको ऐसा लगेगा मानो आप के मुँह में लंड जैसे घुल रहा हो।

हमारे लंड में धीरे-धीरे पानी की एक बूंद बाहर आएगी। और आपके थूक में मिल जाएगी. और उस समय उस थूक का स्वाद आपके मुँह के अंदर ही होगा। और जब लंड आपकी जीभ के ऊपर से होगा अपने गले के अंदर जायेगा। तो वो एहसास तो मैं क्या आप भी शब्दों में बयान नहीं कर सकते। पर मेरे दोस्त बस एक कंडीशन है कि तीनो लंड करीब 8 इंच या उससे ज्यादा होने चाहिए। तभी चुदाई का असली मजा आएगा. क्योंकि 6 या 7 इंच का लंड दर्द से बच गया तक नहीं जा पता।

8 इंच या उससे ज्यादा लंड का बीएस ये फ़ायदा है कि वो हर धक्के के साथ आपके बच्चे दानी से जा कर टच होता। और आप को हर धक्के के साथ एक मीठा सा एहसास होता है। और जब ये लंड की गांड में होगा तो सोचिये एक लंड आपकी चूत में और दूसरा लंड आपकी गांड में। जब ये दोनो ढाके मारेगें तो खिन ना खिन इन दोनो की टक्कर भी होगी। जिस वजह से अपनी चूत और गांड के बीच दीवार पर आपको इसका साफ, साफ एहसास होगा।

और जब ये 8 इंच का लंड आपके मुँह में होगा। तो करीब 5 या 6 इंच लंड आपके मुँह में होगा। और बाकी का बच्चा लंड आप अपने हाथ में ही पकड़ सकते हैं। वर्ना 6 इंच लंड के साथ होता ये है कि वो मर्द पूरा लंड आपके मुँह में डालने की कोशिश करता है। इसलिए उसका जल्दी पानी निकल जाता है। पर बड़े लंड के साथ एशिया नहीं होता वो करीब 2 या 3 इंच बाहर रहता है। और अपने गले में पूरा उतारने का मजा ही कुछ और है।

दोस्तो, मैं आप से माफ़ी चाहता हूँ कि मुख्य कहानी को कॉर्ड कर अपने मजे के बारे में बताऊँ। पर मैं करूं भी तो क्या ये मजा है ही इतना अच्छा कि आप सब शेयर किये बिना नहीं रह सकते थे।

खैर मैं अब वापस अपनी कहानी पर आती हूं। मेरी शादी हुई और मैं दिल्ली से जयपुर अपने पति के घर आ गई। उनके घर में उसके मम्मी पापा और एक बड़े भाई जिसकी शादी हो गई है। उसकी पत्नी का नाम रोमा है। रोमा भी दिखने में काफी सेक्सी है पर मुझसे कम ही है। और उसकी उम्र करीब 33 साल हो चुकी है। पर चुदाई के मामले में उसका भी कोई मुकाबला नहीं है।

स्नेहा का नरम बदन कर गई बिस्तर गरम | Free Hindi Sex Story

जिस दिन मैं शादी करके घर आयी। उसी दिन रात को जब मेरी सुहागरात की तयारी चल रही थी। तभी कोमल के पापा की हालत अचानक खराब हो गई। इसलिए कोमल को अस्पताल जाना पड़ा। मतलब मेरी पहली सुहागरात की माँ चुद गयी। जिस रात के लिए मैं पिछले एक साल से चुदी थी, उस रात की पूरी तरह से माँ चुद चुकी थी।

वो करीब 3 हफ्ते तक हॉस्पिटल में रहे। घर का मुहाल कुछ ठीक नहीं था इसलिए सब रिश्तेदार अपने-अपने घर चले गए। मेरे पति कोमल ने मुझसे कहा कि मैं टेंशन ना लूं। पापा के घर आते ही हम अपना हनीमून मनाएंगे गोवा जाएंगे। उनकी ये बात सुन कर मैं बहुत ख़ुशी हो गयी। मैं दिन रात भगवान से प्रार्थना करने लग गई। कि पापा को जल्दी से जल्दी घर भेज दो ठीक कर के।

आख़िर पापा घर आ गए और उन्हें आते ही मुझसे माफ़ी मांगी। और मुझे गोवा की 2 टिकट के साथ 15 दिनों की होटल बुकिंग के बारे में बताया। मैं बहुत खुश थी कि अब मैं अपने 1 साल की पायस 15 दिन में एक दिन रात चुद कर निकालूंगी। उस रात मेरे पति ने मुझे सेक्स नहीं किया। पर रात को जब वो सो गए तो मैंने उठ कर उनकी धोती साइड करके उनके लंड के दर्शन कर लिए।

लंड देखते ही मेरी आँखों में चमक आ गयी. मैंने इतना बड़ा और मोटा लंड पहली बार देखा था। मेरे पति का लंड सोते हुए करीब 6 इंच का था। मतलब ये कि ये जगते ही 8 से 9 इंच का आराम से होने वाला है। मैंने उसे किस कर लिया और कुछ ही देर में वो अपने असली रूप में आ गया। उनका लंड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है |

अनजान लड़की को दोस्ती करके चोदा | Latest Hindi Sex Stories

मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया और सो गई। मैं सपने में भी उसके लंड के बारे में सोच रही थी। कि मैं कल रात आख़िर केसे अपनी चूत के अंदर लुंगी। अगले दिन हम दोनों त्यार हुए और सुबह 10 बजे गोवा में फिल्म देखने के लिए निकले। जब पूछा ही हम सीधा होटल गए और फ्रेश हो गए। लंच किया और बाहर घूमने चले गए।

रात जो हम दोनो एक साथ डिनर करके अपने कमरे में आये। तोह मैं पूरी तरह से हेयरन रह गया। पूरा रूम रेड लाइट में था बहुत हाय रोमांटिक खुशबू थी प्योर रूम में। और हमारा पूरा बिस्तर गुलाब के फूल की पंखुड़ियों से भरा हुआ था। सच में मैं बता सकता हूं कि कितना सुंदर मेरे पति ने अपना कमरा सजाया था।

उसके बाद मेरे पति कोमल ने मुझे बड़े प्यार से बिस्तर पर लेटा और मेरे ऊपर चोद कर मेरे शुद्ध जिस्म को दर्द से चूमा। और देखते ही देखते मुझे पूरा नंगा कर दिया। और खुद भी नंगे हो गए. उनके जिस्म पर सिर्फ एक अंडरवियर के सिवा और कुछ नहीं था। सब से पहले उन्हें मेरे होठों से प्यार हुआ और उनके स्तनों को दर्द हुआ। और फिर मेरी दोनों तांगे उठा कर मेरी चूत को करीब 40 मिनट तक अच्छे से अंदर तक चूसा।

मेरी चूत ने उस टाइम 3 बार अपना पानी निकल दिया था। मेरा पूरा जिस्म टूट चूका था। उसके बाद जब उनका अंडरवियर निकला और मेरे सामने उनका 8 इंच का लंड आया। तो पता नहीं कहां से मेरे अंदर इतनी ताकत आ गई। मैं झट से उठी और जोर जोर से उनका लंड अपने हाथ में ले कर चूसने लग गई। वो लंड मेरे मुँह में नहीं आ रहा था। पर फिर भी मैं अपनी पूरी कोशिश कर के 7 इंच तक अपने गले में उतार कर उसे अपने मुँह में ले रही थी।

मेरा ये सब करना मेरे पति को बहुत अच्छा लग रहा था। फिर उन्हें मेरी चुदाई शुरू कर दी. कामरे में अब सिर्फ एक लाल लैंप जल रहा था उसके इलावा पूरे कामरे में आंध्रा था। मैं उनके 8 इंच के लंड के ऊपर बैठ कर उनके ऊपर लेती हुई थी। और अपनी गांड जोर जोर से हिला कर अपनी चूत की प्यास बुझा रही थी। कुछ ही देर में मुझे अपनी गांड में एक लंड महसुस हुआ।

तभी कोमल ने मेरी कमर अपने हाथ डाल ली। जिसे मैं हिल भी ना पानू. फिर मेरी गांड पर थूक महसुस हुआ मैंने पीछे मुड़ कर देखा। तो मैं हेयरन रह गई क्योंकि वो झेल जी थी। मैं बोली- झेठ जी आप?

मुकेश – हां मेरी जान मैं ही हूं तेरा जेट। अब चुप चाप अपनी गांड मरवा और मजे ले.

मैं – देखो जी ये क्या हो रहा है आप कुछ बोलते क्यों नहीं।

कोमल- क्या हुआ मेरे बड़े भाई है. अगर वो तुम्हारी गांड मरना चाहती है तो मरवा ले ना। क्या जाता है तेरा और चुप चाप गांड मारवा समझी।

मैं – ठीक है पर आराम से मारो प्लीज दर्द होगा मुझे।

मैंने अभी तक उनका लंड देखा तक नहीं था. फिर उन्हें एक बार और मेरी गांड पर थूक लगा दिया। और अपना लंड मेरी गांड के छेद पर सेट करके एक धक्का मारा। मुझे दर्द हुआ इसलिए मैं थोड़ा सा छिलाई। मेरी गांड में करीब 3 इंच का लंड घुस चुका था। मैंने सोचा इतना और होगा मैंने अपनी सांस रोक ली। और तभी एक और धक्का लगा और अब मेरी गांड में 6 इंच का लंड घुस गया।

6 इंच जेन के बाद मुझे दर्द हुआ. पर मुझे पता था कि अब वो लंड नहीं होगा इतना ही होता है आम मर्दो का। पर तभी एक और जोरदार धक्का और मुझे साफ साफ महसूस हुआ कि अब एक बार 3 इंच और लंड अंदर घुस गया है। मेरी तो मानो गांड ही मोटी हो गई, उनका लंड मेरी गांड की जड़ तक जा पहुंचा।

मेरे मुँह से बहुत जोर से चिंक निकली। मेरा मुँह पूरा खुल चुका था कि तभी मेरे मुँह में एक लंड घुस गया। और किसी ने मेरा सर पकड़ कर एक झटके में अपना लंड मेरे गले में उतार दिया था। और घपा घप मेरे लंड वो लंड अंदर बाहर हो रहा था। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि ये सब हो क्या रहा है मेरे साथ। नीचे से मेरा पति जोर जोर से मेरी चूत मर रहा था। और पीछे से मेरा जेट मेरी गांड. और आगे से ना जाने कोन मेरा मुँह चोदने में लगा हुआ था।

पढ़ें और भी मजेदार किस्से:

मैं अकेली तीन मर्दों के बीच नंगी फंसी हुई थी। और उनके तीनो के लंड मेरे तीनो छेदो में फंस गए। मेरी नज़र सामने आने वाले लंड पर गई तो मैं हेयरन था कि वो लंड भी 8 इंच का था। मैं सोच रही थी कि ये साला सारे हब्शी मुझे आज ही मिलने थे क्या। मैं सोच रही थी कि आज तो मेरी चूत और गांड की बैंड बजने वाली है।

कुछ देर में उसने अपना लंड बाहर निकाला और मैंने ऊपर देखा। तो वो मेरे पति का दोस्त नकुल था। फिर मैं कुछ नहीं बोली मैं समझ रही हूं कि अब मैं रंडी बन चुकी हूं। जो कि मेरे पति ने मुझे बना दिया था। वो तीनो मुझे रंडी समझ कर कुत्तो की तरह चोदते थे। रात के करीब 12 बजे गए तभी दरवाजे की घंटी बजी।

कोमल ने दरवाजा खोला तो मेरी जेठानी संध्या और नकुल की पत्नी रजनी दोनों ब्रा और पैंटी में अंदर आ गयीं। उन सबको एक साथ देख मैं समझ गई। मैंने जो जवानी में ग्रुप सेक्स के बारे में सुना था। आज वो सब मेरे सामने लाइव हो रहे हैं और मैं भी उसका एक हिसा हूं।

उसके बाद दोस्तो मेरे साथ क्या हुआ वो मैं अपने अगले हिस्से में बताऊंगा। पर जो भी हुआ वो बहुत ही जबरदस्त हुआ. जिसे पढ़ कर आप कम से कम 2 बार मुठ मारेंगे।

तो चलिए मैं आप से जल्दी ही मिलती हूं। अपनी इसी कहानी के अगले भाग में। तब तक के लिए मेरे गुलाबी होठों का एक चुम्मा आप सब के खड़े लोडो के लिए।

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

XXX Story
सम्भोग गाथा – पति, पत्नी और गैर मर्द- XXX Story in Hindi

हैल्लो फ्रेंड्स.. में अपनी सम्भोग गाथा आज आप लोगो के सामने पेश कर रही हूँ। फ्रेंड्स हमारी मित्र का नाम नम्रता है और आप सभी को हमारी तरफ से नमस्ते.. फ्रेंड्स आप सभी की ही तरह में भी इस साईट की बहुत बड़ी दीवानी हूँ और हमे इस साईट पर …

Desi Chudai
देसी चूत और सामूहिक चुदाई का सुख- Group Sex Stories, Desi Chudai

हैल्लो दोस्तों पहले मैं आप सभी को अपना परिचय दे दूँ.. मेरा नाम मोना है और मैं 21 साल की हूँ और मैं बहुत सेक्सी लड़की हूँ और मैं एक इंजिनियरिंग स्टूडेंट भी हूँ। मेरा फिगर 32-30-36 और 5.4 इंच हाईट और गोरा कलर, सिल्की बाल, और मैं बहुत सुंदर …

Group Sex Stories
चोर के साथ गैंग बैंग चुदाई- Group Sex Stories, XXX Story

सभी पाठकगण को अमृता की ओर से नमस्कार। मै अमृता हरियाणा से हूं। मेरी उम्र ३२ साल है, और मेरी शादी को सात साल हो चुके है। यह कहानी मेरे साथ घटित सच्ची घटना है। इस कहानी को पढकर आपको पता चलेगा, कैसे मेरे घर में चोर घुसे, और उन्होंने …